नागपुर में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के तीन अधिकारियों को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

नागपुर, एजेंसी। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रिश्वतखोरी के दो अलग-अलग मामलों में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के 3 अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। इसमें नागपुर से 2 और गोंदिया से एक गिरफ्तारी हुई है। इस सभी पर रिश्वतखोरी के आरोप हैं।

आरोप है कि इंडियन ऑयल के स्थानीय बिक्री अधिकारी सुनील गोल्हर ने गोंदिया जिले के गोरेगांव स्थित खादीपार में मीरा पेट्रोल पंप के मालिक से आवश्यक स्टॉक उपलब्ध कराने के लिए 1 लाख रुपये की रिश्वत मांगी। पंप मालिक ने इसकी शिकायत सीबीआई के वरिष्ठ अधीक्षक सलीम खान से की। सीबीआई को गोरेगांव, गोंदिया के एक और पंप मालिक आकाश अशोक चौधरी से इसी तरह की एक और शिकायत मिली। दोनों आरोपों की पुष्टि करने के बाद अधीक्षक सलीम खान ने गुरुवार रात में दो अलग-अलग मामले दर्ज करके दो अलग-अलग दस्ते बनाए।

सीबीआई अधिकारियों के एक दस्ते ने गोंदिया से गोल्हर को और दूसरे ने नागपुर में एनपी रोडगे और मुख्य प्रबंधक मनीष नंदले (खुदरा बिक्री) को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा। इसके बाद सीबीआई की अलग-अलग टीमों ने इन तीनों के आवास और कार्यालय में छापेमारी शुरू करके देर रात तक पूछताछ करने के बाद गिरफ्तार कर लिया। अधीक्षक सलीम खान ने बताया कि तीनों भ्रष्ट अधिकारियों को शनिवार को सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *